टेक्नॉलॉजी

WhatsApp ने बताया, इन यूजर्स को पड़ेगा नई पॉलिसी का सबसे ज्यादा असर

WhatsApp ने हाल ही में प्राइवेसी पॉलिसी अपडेट किया है. इसके बाद से कंपनी विवादों में है. लोग प्राइवेसी फोकस्ड मैसेजिंग ऐप सिग्नल और टेलीग्राम की तरफ शिफ्ट हो रहे हैं.  इसी बीच WhatsApp की सफाई आई है. कंपनी ने कहा है कि नई पॉलिसी से आम यूजर्स की प्राइवेसी पर फर्क नहीं पड़ेगा. हालांकि बिजनेस अकाउंट यूजर्स को इसका ज्यादा फर्क पड़ेगा. लेकिन क्यों? आइए बताते हैं. 


बिजनेस अकाउंट को लेकर WhatsApp की नई पॉलिसी में क्या कुछ है ये भी आपके लिए जानना जरूरी है. ऐसा इसलिए, क्योंकि अगर आप WhatsApp बिजनेस यूज नहीं करते, लेकिन किसी प्रोडक्ट की  खरीदारी के लिए किसी मर्चेंट के WhatsApp Business अकाउंट पर मैसेज करते हैं तो भी आपके ऊपर WhatsApp  की नजर है. 


WhatsApp ने अपने FAQ पेज को आज ही अपडेट किया है. इस पेज पर कंपनी ने कहा है कि हर दिन दुनिया भर के लाखों लोग अपने बिजनेस को लेकर अपने ग्राहकों से WhatsApp पर बात करते है.  कंपनी ने कहा है कि WhatsApp बिजनेस इसको और आसान बना देता है. बिजनेस कम्यूनिकेशन यूज पर Facebook ने कहा है कि इसपर वो हमेशा हर बात को लेकर स्पष्ट रहेगा. 

कंपनी के मुताबिक बिजनेस चैटिंग दोस्तों या परिवार के साथ चैटिंग से काफी अलग होती है. कुछ बड़े बिजनेस को अपने कम्यूनिकेशन को मैनेज करने के लिए होस्टिंग सर्विसेस की जरुरत होती है. 


वॉट्सऐप पर चैट को मैनेज करने, ग्राहकों उसके सवालों का जवाब देने के लिए फेसबुक होस्टिंग की शुरूआत की गई है. जिससे असानी से रसीद भेजने, ग्राहक के सवालों का जवाब देने जैसे काम किए जा सकते है. 

कंपनी ने साफ किया है कि बिजनेस कम्यूनिकेशन फोन, ईमेल या वॉट्सऐप से होने पर उसकी नजर होगी. जिसको वो अपने मार्केटिंग के लिए उपयोग कर सकते है. इसके अलावा उसका इस्तेमाल फेसबुक ऐड के लिए भी किया जा सकता है. ग्राहकों के सुविधा के लिए कंपनी उन चैट को लेबल कर देगी. जो फेसबुक की होस्टिंग सर्विसेज का इस्तेमाल करेंगे.

लोग बहुत तेजी से ऑनलाइन शॉपिंग की ओर बढ़ रहे है. फेसबुक के ब्रांडेड कॉमर्स फीचर की मदद से लोग दुकान की तरह अपने सामान को ग्राहकों को दिखा पाएंगें. 

इस फीचर से लोग वॉट्सऐप पर ही सामान को लोगों को दिखा सकते है. जिससे लोग को खरीदने वाले सामान के बारे में जानकारी ले पाएंगें. अगर आप दुकान से बातचीत करते है तो आपके शॉपिंग एक्टिविटी का उपयोग किया जाएगा. जिसका इस्तेमाल आपके शॉपिंग एक्सपीरियंस को बेहतर बनाने में किया जाएगा. इसका उपयोग फेसबुक और इंस्टाग्राम पर ऐड दिखाने के लिए भी किया जाएगा. ये सर्विस ऑप्शनल है. इस फीचर का उपयोग करने पर ऐप में बताया जाएगा कि यूजर का डेटा किस तरह फेसबुक के साथ शेयर किया जा रहा है. 


फेसबुक पर किसी ऐड के साथ message a business using WhatsApp का बटन आप देख सकते है. अगर आपके फोन में WhatsApp पहले इंस्टॉल है तो आप उस बिजनेस को सीधे मैसेज भेज सकते है. आप इन फेसबुक के विज्ञापनों के साथ जिस तरह इंटरऐक्ट करेंगे. फेसबुक इस डेटा का यूज कर आपको उस तरह का विज्ञापन अगली बार से दिखाएगा.


कुल मिला कर ये है कि WhatsApp की इस पॉलिसी से जिस बात को लेकर बहस होनी चाहिए थी वो नहीं हो रही है. क्योंकि कंपनी अब डायरेक्ट बिजनेस को टार्गेट कर रहा है और बिजनेस के जरिए आम यूजर्स की खरिदारी और बिहेवियर को भी ट्रैक करेगी.

Share With Your Friends If you Loved it!
  •  
  •  
  •  
  •