ताजा खबरेपॉलिटिक्स

‘Garlic का मतलब अदरक’, इस बयान पर PAK के मंत्री का उड़ रहा मजाक

fawad

पाकिस्तान के मंत्री फवाद चौधरी महंगाई पर प्रेस कॉन्फ्रेंस कर रहे थे.

इसकी दौरान उन्होंने कहा कि Garlic का मतलब अदरक होता है, हालांकि कई लोगों ने कहा कि इसका मतलब लहसुन होता है, लेकिन फवाद चौधरी अपनी बात पर कायम रहे.

पाकिस्तान के सूचना और प्रसारण मंत्री फवाद चौधरी एक बार फिर सोशल मीडिया पर मीम्स और ट्रोलिंग का विषय बन गए हैं, जिसमें उनका वीडियो वायरल हो गया है जिसमें वह लहसुन को ‘अदरख’ (अदरक) बता रहे हैं।

ट्विटर पर साझा की गई एक क्लिप में, पाकिस्तान के संघीय मंत्री, जो एक प्रेस को संबोधित कर रहे हैं जो मुद्रास्फीति पर लग रहा था, को “लहसुन अद्रख है” कहते हुए सुना गया था, जो दो अलग-अलग बहुत ही सामान्य जड़ी-बूटियाँ हैं, जिनका व्यापक रूप से दुनिया भर में खाना पकाने में उपयोग किया जाता है।

जानकारी के लिए बता दे कि लहसुन को हिंदी में ‘लहसुन’ जबकि ‘अद्रख’ को अदरक कहा जाता है.

हालांकि, इन दोनों जड़ी-बूटियों के बीच भ्रमित होना कोई बड़ी बात नहीं है, लेकिन सोशल मीडिया पर जानकारी की कमी के कारण मंत्री को फंसाया जा रहा है।

जानकारी के लिए बता दे कि Garlic को हिंदी में ‘लहसुन’ जबकि Ginjer को अदरक कहा जाता है. हालांकि कई लोगों ने फवाद चौधरी के बयान का बचाव करते हुए कहा कि कई लोगों से Garlic और Ginjer की हिंदी में गलतियां हो जाती हैं.

एक यूजर ने लिखा, ‘ये पाकिस्तान के आइंस्टाइन हैं, राजनीति.’ वहीं कई यूजर कंगना रनौत की फिल्म तनु वेड्स मनु रिटर्न्स का वह डॉयलाग शेयर कर रहे हैं,

जिसमें कंगना कहती है, ‘हालत देखी है, अदरक हो गया है यह आदमी, कहीं से भी बढ़ा जा रहा है.’ 

‘पाकिस्‍तान को सबसे बड़ा खतरा खुद से’

इससे पहले आतंकवाद के मसले पर सूचना और प्रसारण मंत्री फवाद चौधरी ने खुद पाकिस्तान के स्कूल-कॉलेज को घेरा था.

उन्होंने कहा था कि मुल्‍क में कट्टरता के लिए मदरसे नहीं, बल्कि स्‍कूल-कॉलेजों के वे शिक्षक जिम्‍मेदार हैं, जिन्‍हें 1980 और 1990 के दशक में नियुक्‍त ही इसी मकसद से किया गया था.

सूचना और प्रसारण मंत्री फवाद चौधरी ने कहा था कि पाकिस्‍तान को आज सबसे अधिक खतरा किसी विदेशी ताकत से नहीं, बल्कि खुद से ही है. उन्होंने कहा था, ‘आपसे अलग विचार रखने वाला कोई व्यक्ति गलत कैसे हो सकता है?

यदि विपरीत विचार वाले व्यक्ति को बर्दाश्‍त नहीं किया जाता तो समाज में सहज सकारात्मक परिवर्तन कैसे लाया जा सकता है?’

Share With Your Friends If you Loved it!