breaking newsताजा खबरेदुनियाराष्ट्रीय

अफगानिस्तान में मानवीय मदद के लिए भारतीय ‘तकनीकी टीम’ काबुल में तैनात

भारत ने उम्मीद के मुताबिक गुरुवार को यह घोषणा कर दी कि अफगानिस्तान की राजधानी काबुल स्थित उसके दूतावास में फिर से काम काज शुरू हो गया है। अगस्त, 2021 में तालिबान द्वारा अफगानिस्तान पर कब्जा करने के बाद भारत ने दूसरे कई देशों की तरह अपने दूतावास को बंद करने का फैसला लिया था।

पिछले दिनों विदेश मंत्रालय की एक टीम ने काबुल का दौरा किया था और वहां तालिबान से बातचीत भी की थी। दैनिक जागरण ने काबुल में दूतावास को दोबारा खोलने की संभावनाओं को लेकर एक खबर भी प्रमुखता से प्रकाशित की थी। विदेश मंत्रालय की ओर से बताया गया है कि भारतीय टीम गुरुवार को काबुल पहुंच गई है। उसने काम भी संभाल लिया है। यह निर्णय अफगानिस्तान को भेजी जा रही मानवीय मदद की निगरानी करने और वहां के लोगों के साथ लगातार संपर्क बनाये रखने के उद्देश्य से लिया गया है।

मदद साम्रगी से भरा विमान काबुल पहुंचा

विदेश मंत्रालय ने यह भी बताया है कि कुछ सप्ताह पहले जो टीम भेजी गई थी, उसने वहां के सुरक्षा हालात का भी जायजा लिया था। आगे भारत का कदम अफगानिस्तान की जनता को दी जाने वाली मदद को केंद्र में रख कर ही उठाया जाएगा। यह भी उल्लेखनीय है कि गुरुवार देर शाम भारत ने अफगानिस्तान में आए भूकंप से राहत के लिए मदद सामग्री से भरा हुआ एक विमान भी काबुल भेजा है। भूकंप से प्रभावित अफगान नागरिकों की सहायता के लिए भारतीय टीम द्वारा खेप सौंप दी गई है। बताया जा रहा है कि एक और खेप भेजी जाएगी।

भेजी गई तकनीकी टीम

विदेश मंत्रालय द्वारा जारी प्रेस विज्ञप्ति में बताया गया कि मानवीय सहायता के प्रभावी वितरण के लिए और अफगान लोगों के साथ हमारे जुड़ाव को जारी रखने के लिए एक भारतीय तकनीकी टीम आज (गुरुवार) को काबुल पहुंच गई है और उन्हें (तकनीकी टीम) हमारे दूतावास में तैनात किया जाएगा। बयान में आगे कहा गया कि अफगान लोगों के साथ भारत के ऐतिहासिक और सभ्यतागत संबंध हैं।

विदेश मंत्रालय के आधिकारिक प्रवक्ता अरिंदम बागची ने एक ट्वीट में कहा, ‘अफगानिस्तान के लोगों के लिए भारत की भूकंप राहत सहायता की पहली खेप काबुल पहुंच गई । गौरतलब है कि भारत के विदेश मंत्री एस जयशंकर ने भी ट्वीट को रीट्वीट करते हुए लिखा, ‘भारत एक सच्चा मददगार है।’ (India a true responder)

अफगान समाज के साथ भारत के लंबे समय से संबंध हैं: विदेश मंत्रालय

विदेश मंत्रालय ने कहा कि अफगान समाज के साथ भारत के लंबे समय से संबंध हैं। मंत्रालय ने आगे जानकारी देते हुए बताया कि भारत लगातार अफगानिस्तान के लोगों के लिए मानवीय सहायता प्रदान करना और दोनों देशों के बीच रिश्तों को बेहतर बनाने के लिए काम कर रहा है

Share With Your Friends If you Loved it!